Pages

Monday, February 1, 2010

अब तो अपने बाघों को बचाएं

पिछली शताब्‍दी के आरंभ में बाघों की आबादी करीब 40 हजार थी। अब उनमें से केवल 1411 भारत में बाकी बचे हैं। पिछले वर्ष भारत में 86 बाघों की जान गई। भारत में करीब 37 बाघ अभयारण्‍य हैं लेकिन इनमें से करीब 17 अब अपनी बाघों की आबादी को पूरी तरह खो चुकी हैं या खोने की कगार पर हैं।

क्‍या ये तथ्‍य भयावह नहीं लगते। बाघों की लगातार खत्‍म होती आबादी के कारण अब उनके अस्तित्‍व पर संकट मंडरा रहा है। इसलिए अब बाघों को बचाने की बात शुरू हो रही हैं। बाघों को बचाने और उनकी आबादी को बढ़ाने की कवायद शुरू हो रही है। दुनिया भर के पशु प्रेमी इस मुहिम में अपनी भूमिका निभाने को तैयार हो रहे हैं।

बाघों को बचाने की इस मुहिम का हिस्‍सा बनिए।

2 comments :

Udan Tashtari said...

स्थितियाँ चिन्तनीय है. इस दिशा में युद्ध स्तरीय कार्यवाही आपेक्षित है.

हिमांशु । Himanshu said...

निश्चय ही आवश्यक कदम उठायें जाने चाहिये ।

Post a Comment

पर्यानाद् आपको कैसा लगा अवश्‍य बताएं. आपके सुझावों का स्‍वागत है. धन्‍यवाद्